एकात्मा मानववाद के प्रेरणाश्रोत - पं. दीनदयाल उपाध्याय



युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के नेहरू युवा केन्द्र मुरैना द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती पर ग्राम बांसी हायर सेकेण्ड्री स्कूल में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।  
 नेहरू युवा केन्द्र के उपनिदेशक श्री राकेश सिंह तोमर ने बताया कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जी ने एकात्म मानव दर्शन को विस्तार से प्रस्तुत किया। एकात्मा का तात्पर्य एक ही होना है। एक ही प्रकार की चेतना, बुद्धि और एक ही प्रकार की चिंतन प्रक्रिया का होना एकात्मा मानववाद का दर्शन है। 
 शिवराज शर्मा जिला प्रौढ़ शिक्षा अधिकारी ने कहा कि एकात्म मानव दर्शन का लक्ष्य मनुष्य को ठीक ढंग से खड़ा करना है। एकात्म मानववाद बस्तुत धर्म आधारित दर्शन है। मनुष्य का विचार करना ही धर्म का विचार करना है, लेकिन उपाध्याय जी बार-बार धर्म आधारित दर्शन धर्म आधारित समाज धर्म आधारित व्यक्ति धर्म आधारित राज्य व्यवस्था का कार्य किया। प्रभारी प्राचार्य मुकेश टैगोर ने कहा कि आज सभी को शि़क्षित होना जरूरी है। हर इन्सान को लग्न निष्ठा से के साथ कार्य करना चाहिए, उन्होंने हिन्दुत्व व सनातन धर्म की भावना के साथ सभी का विकास करने का कार्य किया। 
 इस अवसर पर श्रीमती मंजू बरेलिया, श्रीमती अंकिता शर्मा, कुसुम शाक्य, कमल सिंह राठौर, प्रशांत परिहार, विजय कुमार शर्मा, मनीष शर्मा, दीपक शर्मा, रामविलाश शर्मा आदि सभी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुकेश सिंह टैगोर ने किया एवं आभार प्रदर्शन रामविलाश शर्मा ने किया।

Post a Comment

0 Comments

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
MORENA UPDATE WHATSAPP GROUP